लैंगिक भेदभाव और रूढ़िवादी परिवेश में ‘नूर’ की जद्दोजहद का दस्तावेज है ‘ब्लैंक्स एंड ब्लूज’

लैंगिक भेदभाव और रूढ़िवादी परिवेश में ‘नूर’ की जद्दोजहद का दस्तावेज है ‘ब्लैंक्स एंड ब्लूज’

‘ब्लैंक्स एंड ब्लूज’ एक महिला केंद्रित उपन्यास है। इस उपन्यास की नायिका, नूर अपने माता पिता की इकलौती संतान है। अर्जीरिया नाम की एक त्वचा की दुर्लभ बीमारी ने उसके जीवन को बदरंग कर दिया। वो निराशा के अंधकार में डूब रही थी, तभी उसने एक फैसला लिया। उसने द़ढ़ निश्चय किया कि वो निराशा से हर हाल में बाहर निकलेगी। वह कविताएं लिखने लगी। अपने विचारो को सहज रूप से ज़ाहिर करना सीखने लगी। नूर नैनीताल से दिल्ली और फिर दिल्ली से कनाडा का सफर तय करती है। इस दौरान वह लैंगिक असमानता, रूढ़िवादिता से दो चार होती है। उसे साहित्यिक चोरी का भी सामना करना पड़ता है। इन सब कठिनाइयों के बीच नूर अपने बौद्धिक सफर को जारी रखती है।

युवा उपन्यासकार मिस्बाह खान अपने पहले ही उपन्यास ‘ब्लैंक्स एंड ब्लूज’ से लोगों का दिल जीतने में कामयाब रही हैं। मिस्बाह ने स्नातक दिल्ली विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी साहित्य मे किया है। फिल्हाल स्नातकोत्तर की पढ़ाई इन्दौर से कर रही हैं।

‘ब्लैंक्स एंड ब्लूज’ को एसआईएम पब्लिशर्स (SIM Publishers), इम्प्रिंट नाइन ( Imprint Nine) ने प्रकाशित किया है।

यह उपन्यास अमेज़न पर 6 जून, 2020 से उपलब्ध है।

अमेज़न लिंक – https://www.amazon.in/dp/B089QWCBYY/ref=sr_1_fkmr2_1?dchild=1&keywords=black+%26+blue+misbah&qid=1591434123&sr=8-1-fkmr2

मिस्बाह खान का सम्पर्क सूत्र

मोबाइल न.- 9990882315

ई मैल- khan28misbah@gmail.com

पता – स्कीम-140, पीप्लियहाना रोड, इंदौर, म.प्र.   

1 comment

Posts Carousel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

1 Comment

  • Misbah Kham
    June 8, 2020, 9:42 pm

    Thank you so much for the kind words! Your appraisal would definitely compell me to always keep moving ahead!

    REPLY

Latest Posts

Top Authors

Most Commented

Featured Videos