होली और शब ए बारात पर विश्वशांति की अपील.. इंद्रेश कुमार ने कहा जंग नहीं बंद हुई तो सब होंगे बरबाद

0

हिंदुस्तान भर में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की टीम ने जोश, उमंग और उत्साह के साथ आस्था और श्रद्धा के महापर्व होली और शब ए बरात मनाया। एमआरएम के मुख्य संरक्षक इंद्रेश कुमार ने होली और शब ए बरात की बधाई देते हुए कहा कि धर्मों, मजहबों, जातियों से ऊपर उठ कर भारत, भारतीय, भारतीयता को अपनाते हुए देश को विकास और खुशहाली के रास्ते पर ले जाना चाहिए। कुमार ने कहा कि शब-ए-बरात की रात मांगी गई दुआएं खुदा कबूल करते हैं। आइए हम सब दुआ करें कि हम सबके बीच प्रेम, सद्भाव बढ़े और हमारे सम्मिलित प्रयास से देश निरंतर प्रगति की ऊंचाई पर बढ़ता रहे।

संघ नेता ने इस मौके पर विश्वशांति की भी अपील की। उन्होंने साफ संदेश दिया कि दुनिया भर की सरकारों को शांति, एकता, सद्भावना के लिए आगे आना होगा। उन्होंने दुनिया भर के सभी बड़े नेताओं से अपील करते हुए कहा कि मानवता की रक्षा और खुशहाली के लिए विश्वशांति जरूरी है.. इसलिए रूस और यूक्रेन की खींच रही जंग पर तत्काल विराम लगना चाहिए। साथ ही उन्होंने चेताया कि अगर युद्ध की आग और धधकी तो इसमें दुनिया भर के करोड़ों मासूमों की जान जायेगी और अरबों खरबों की संपत्ति का सर्वनाश होगा।

होली और शब ए बारात के बधाई संदेश के साथ मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के मीडिया प्रभारी शाहिद सईद ने बताया कि एमआरएम के लिए होली का उत्साह और उमंग पंजाबी के प्रसिद्ध सू़फी कवि बाबा बुल्ले शाह की उस रचना की तरह है जिसमें होली का ज़िक्र कुछ इस अंदाज़ में किया गया था -“होरी खेलूँगी कहकर बिस्मिल्लाह”, “नाम नबी की रतन चढ़ी, बूँद पड़ी इल्लल्लाह”, रंग-रंगीली उही खिलावे, जो सखी होवे फना फी अल्लाह”, “होरी खेलूंगी कहकर बिस्मिल्लाह…।” साथ ही साथ शाहिद ने कहा कि यह खुशकिस्मती है हमारी की हम उस मुल्क के वासी हैं जिसके बारे में कभी नबी ने कहा था कि मुझे हिंद से ठंडी हवा आती है…। मीडिया प्रभारी ने कहा कि यह देश की एक और बड़ी खुशकिस्मती है जब केंद में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक मजबूत सरकार है जो हर धर्म, हर तबके, हर समुदाय के लिए समान निष्ठा से चौतरफा विकास का काम करती है।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के अध्यक्ष मोहम्मद अफजाल, राष्ट्रीय संयोजक माजिद तालिकोटि, शाहिद अख्तर, विराग पचपोर, रज़ा हुसैन रिजवी और गिरीश जुयाल, मजाहिर खान, मोहम्मद साबरीन और इमरान चौधरी ने रंगोत्सव की देश को बधाई देते हुए कहा कि होली की बधाइयों और शुभकामनाओ के साथ साथ देशवासी प्यार की बौछार एवं दुआओं का रंग भी लगाएं। मंच के सदस्यों ने देश की जनता से आह्वान किया कि होली की खुशियों और शब ए बरात की आस्था के बीच अपने अड़ोस पड़ोस और समाज में एकता की मिसाल कायम करें। संयोजकों ने बताया कि इस बार का शुक्रवार ईश्वरीय वरदान की तरह रहा.. एक ऐसा अद्भुत दिन जब हिंदुओं और मुसलमानों का पर्व एक दिन ही पड़ा। इस दौरान एमआरएम टीम होली के रंग और शब ए बरात की इबादत में डूबी रही। शब ए बरात में फातिहा पढ़ के अपने गुजरे हुए लोगों के लिए दुआ मांगी जाती है। इस बार शहीद सैनिकों और कोराेना काल में दुनिया को अलविदा कहने वालों के लिए भी विशेष प्रार्थना की गई। दिल्ली में अमर जवान ज्योति पर शहीद सैनिकों के लिए महिला प्रकोष्ठ की टीम ने फातिहा पढ़ा जबकि हजरत निजामुद्दीन औलिया की दरगाह पर खास प्रार्थना सभा हुई जिसमें सभी शरीक हुए।

मंच के बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ हिंदुस्तान फर्स्ट हिंदुस्तानी बेस्ट के राष्ट्रीय संयोजक बिलाल उर रहमान, युवा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक खुर्शीद रजाका, महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय संयोजिका शहनाज अफजल, शालिनी अली, रेशमा हुसैन और निखत परवीन ने इस मौके पर देशवासियों से आग्रह किया कि देश में उन्माद और अराजकता फैलाने वालों के खिलाफ लामबंद होकर देश को एकता, अखंडता, सद्भावना और भाईचारे के रास्ते पर ले चलें। हिजाब प्रकरण पर कर्नाटक उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ सर्वोच्च न्यायलय में याचिका डाली गई है। जिसकी जल्द ही सुनवाई होनी है। इस मामले पर मंच की तरफ से कहा गया कि मुसलमान को ऐसी बातों पर तवज्जो न देकर शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार जैसे मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश नित्य प्रतिदिन नए सोपान चढ़ रहा है और ऐसे में हमारा फर्ज बनता है कि हम लोग डिस्ट्रक्टिव नहीं, कंस्ट्रक्टिव भूमिका निभाते हुए प्रधानमंत्री के हाथ मजबूत करें।

SHARE NOW

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *