किसानों- नौजवानों के समर्थन में गाँव गाँव चलेगा मुकदमा वापसी मार्च- ब्रजेंद्र प्रताप सिंह

0

भूमि अधिग्रहण के लिए हुई बर्बरता के प्रतीक बन चुके प्रयागराज जिले के कचरी गांव से 15 अगस्त 2020 को किसान नौजवान मोर्चा ने ‘मुकदमा वापसी मार्च’ की शुरुआत की। मोर्चा के संयोजक ब्रजेंद्र प्रताप सिंह ने कई वर्षों से संघर्ष कर रहे जेल यात्रियों और उनके परिजनों का सम्मान करने के बाद पैदल मार्च की शुरुआत की।

किसान कल्याण पुनर्वास समिति के अध्यक्ष डॉ राज बहादुर पटेल और सदस्यों ने मोर्चा को समर्थन दिया। इसी तरह उत्तर प्रदेश के अनेक जिलों में मोर्चा से जुड़े संगठनों ने अलग अलग गावों में ऐसे मार्च निकालकर गांव की सीमा पर ही स्थगित कर दिए। मोर्चा के संयोजक ब्रजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि यह मार्च गांव की सीमा पर इसलिए स्थगित किए गए हैं ताकि सरकार को वक्त दिया जा सके। वह मुकदमा वापसी की प्रक्रिया शुरू करे, अन्यथा गांव-गांव में स्थगित किए गए यह ‘मुकदमा वापसी मार्च’ लखनऊ की तरफ कूच कुछ शुरू कर देंगे। इसकी तारीख मोर्चा की अगली सामान्य सभा में तय की जाएगी।

आज का यह अभियान कचरी गांव को भूमि अधिग्रहण की बर्बरता का केंद्र मानकर शुरू किया गया। इस गाँव के 2 दर्जन से अधिक महिला और पुरुष जेल भेजे गए थे। इनमें एक एक परिवार के कई कई लोग जेल भेजे गए थे। वे लगातार संघर्ष कर रहे हैं। परिवार के परिवार बरबाद हो गए हैं।

बच्चों की पढ़ाई छूट गई,  कई लोगों की नौकरी चली गई। गैंगस्टर एक्ट लगा करके  50 हजार का ईनाम घोषित किया गया। तब किसानों का समर्थन करने वाले लोग मंत्री और सांसद हो गए। सरकार ने अनेक लोगों के मुकदमे वापस लिए पर किसानों के मुकदमे नहीं वापस लिए गए।

मोर्चा की तरफ से जेल गए किसानों डॉ राज बहादुर पटेल, उनकी पत्नी रीता पटेल, बेटे, बेटी, भाई गाँव के हरिश्चन्द्र मिश्र, रामचन्द्र पटेल, रविकांत पटेल, जगत बहादुर पटेल, प्रेम कुमार पटेल, रीता देवी पटेल, वीरेन्द्र पटेल, अशोक शर्मा, भीमसेन नाउ, हरिश्चन्द्र मिश्रा, सुशील पटेल, मस्तराम पटेल, संतोष पटेल,शिव कुमार, अशोक कुमार पटेल, रामदेव पटेल, रविकान्त पटेल, ब्रजेश चौधरी, राजेश कुमार , हजारीलाल पटेल, राजेन्द्र पटेल, समीर यादव, राम प्रसाद प्रजापति, रविकान्त पटेल, समरजीत पटेल, शिव कुमार , धर्मराज पटेल, मौजीलाल, विनय कुमार, राजन, बैजनाथ, श्याम बाबू, रामचन्द्र पटेल, अमित पटेल, श्यामलाल मानिकचन्द, शिवलाल, अखिलेश कुमार, राजेश पांडे, बिजली पटेल,  भुवर पटेल, धीरज पटेल, धर्मा देवी पटेल, देवी शंकर, शशि  समेत पीड़ितों का नागरिक अभिनंदन इसलिए किया गया कि किसान स्वाभिमान से जी सके।

 संयोजक बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि सरकारें मनमानी बंद करें। आज मोर्चा के आवाहन पर प्रदेश के अनेक जिलों में किसानों के समर्थन में फेसबुक के जरिए और चौपालों के जरिए आवाज उठाई गई। कानपुर, उन्नाव, फतेहपुर, हमीरपुर, मिर्जापुर, इलाहाबाद प्रतापगढ़, देवरिया, उरई, झांसी, लखीमपुर गोरखपुर, बस्ती, बरेली, सोनभद्र समेत अन्य जिलों में मोर्चा के सदस्यों ने फेसबुक पर लाइव होकर किसानों और नौजवानों के हक में अपनी आवाज बुलंद की। उत्तर प्रदेश के गांवों में यह अभियान तब तक चलता रहेगा, जब तक किसानों-नौजवानों पर लगे मुकदमें सरकार वापस नहीं करती। किसान मोर्चा ने चेताया कि  राजनीतिक पार्टियों को सचेत हो जाना चाहिए। अगर किसानों के हित के खिलाफ फैसले होंगे, नौजवानों के हित के खिलाफ फैसले होंगे तो सरकारें बेदखल हो जाएंगी। आजादी के बाद से खासकर बीते तीन दशक से उत्तर प्रदेश में किसानों के खिलाफ भूमि अधिग्रहण के नाम पर जबरदस्त मनमानी की गई है। सियासी दलों ने राजनीतिक फायदे के लिए किसान को जातियों में विभाजित कर दिया है। मोर्चा ऐसे कृत्य की निंदा करता है।

देश के सभी किसानों का समर्थन

मोर्चा के संयोजक बृजेंद्र सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश के हजारों किसानों के खिलाफ भूमि अधिग्रहण की मनमानी के विरोध पर, बिजली के दामों के वृद्धि के विरोध पर, सिंचाई के समस्याओं को लेकर मंडी परिषद की मनमानी के खिलाफ बात कहने पर,  अनाज गोदामों तक भेजने के लिए, धान गेहूं और अन्य फसलों की बिक्री के दौरान मनमानी का विरोध करने पर, नौकरियों में भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने पर किसानों के खिलाफ मुकदमें दर्ज किए गए हैं। उत्तर प्रदेश के साथ मध्य प्रदेश, झारखंड, बिहार, हरियाणा, पंजाब गुजरात, महाराष्ट्र में भी किसानों के साथ बर्बरता हुई है। उन प्रदेशों में भी दर्ज मुकदमे वापस किए जाएं।

किसान नौजवान मोर्चा ने आज राष्ट्रीय स्तर पर किसानों के लिए संकल्प में भागीदारी करते हुए कहा है कि मोर्चा अत्याचार का मुखर विरोध करेगा। कचरी गाँव में ब्रजेंद्र प्रताप सिंह के साथ मोर्चा की केंद्रीय टीम के साथ एडवोकेट रितेश श्रीवास्तव, दिनेश तिवारी, प्रभाकर सिंह पटेल, अमित कुमार, दिनेश शुक्ला, पवन समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

SHARE NOW

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot gacor
slot thailand
slot server thailand