न्यू डेल्ही फिल्म फाउंडेशन को सम्मान

0

राजधानी दिल्ली की प्रमुख फिल्म सोसाइटी न्यू डेल्ही फिल्म फाउंडेशन को मुंबई में हुए दूसरे मुंबई इंडिपेंडेंट फिल्म फेस्टिवल में सम्मानित किया गया। मुंबई फिल्म एकैडमी और फिल्म फ्रीवे के सहयोग से आयोजित इस पांच दिवसीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का ये दूसरा साल था। इसमें देश विदेश से आयी 100 से अधिक फिल्मों में से चयनित फिल्मों को अलग अलग कैटेगरी में नामांकित किया गया था। न्यू डेल्ही फिल्म फाउंडेशन इस फिल्म समारोह में बतौर ऑर्गनाइज़ेशनल पार्टनर शामिल हुआ।

फेस्टिवल चेयरमैन हारिल शुक्ला ने बताया कि मुंबई स्वतंत्र फिल्म महोत्सव विशेष रूप से स्वतंत्र फिल्मकारों के लिए आयोजित किया जाता है जो अपनी रचनात्मकता को इस समझ के साथ प्रस्तुत करना चाहेंगे कि उनके काम को परखने वाली जूरी में अभिनेता, निर्माता, फिल्म निर्माता और स्वतंत्र पटकथा लेखक सभी शामिल हैं।

मुंबई के गंगाधर खेतान ऑडिटोरियम में आयोजित 2022 संस्करण के अवॉर्ड फंक्शन में मिलन सुभाष राठौड़ की फिल्म ‘वूंग वूंग’ ने बेस्ट शॉर्ट फिल्म का अवॉर्ड जीता जबकि सिडनी की फिल्मकार अनीता बराड़ की फिल्म ‘क्रॉसिंग द लाइन’ को बेस्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म का अवॉर्ड मिला। ये फिल्म उन लोगों की आपबीती उन्ही की ज़ुबानी सुनाती है, जिन्होने भारत-पाकिस्तान के बंटवारे को अपनी आंखों से देखा था और उस दौरान सरहद पार किया था।

केरल के फिल्ममेकर डा शेमिन नायर की फिल्म ‘टाइड ऑफ लाइज़’ को बेस्ट फीचर फिल्म का अवॉर्ड मिला। इनके अलावा भी कई फिल्मों और फिल्मकारों को अलग अलग कैटेगरी में सम्मानित किया गया।

न्यू डेल्ही फिल्म फाउंडेशन के संस्थापक-महासचिव आशीष कुमार सिंह ने बताया कि एनडीएफएफ ने इस फेस्टिवल में फिल्मकारों को जोड़ने और देश-विदेश में फिल्मों को लेकर गंभीर दृष्टिकोण रखने वालों को समारोह से जोड़ने में अहम भूमिका निभाई। उन्होने बताया कि ये तीसरा अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव था, जिसमें एनडीएफएफ ने सक्रिय भागीदारी निभाई है। न्यू डेल्ही फिल्म फाउंडेशन अगले वर्ष दिल्ली में एक अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव आयोजित करने की तैयारी कर रही है, जिसकी घोषणा जल्द ही की जाएगी।

SHARE NOW

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *